Kamba Ramayana Pdf Download in Hindi

Kamba Ramayana को हिरामाव्तार्म भी कहा जाता है ! तमिल साहित्य में Kamba Ramayana को प्रोढ़ कवित्री को मान्यता प्राप्त है ! राम कथा विश्व की एकमात्र ऐसी कथा है जिसे विश्व में सर्वाधिक मान्यता मिला ! बाल्मीकि से राम कथा धरा संस्कृत पाली ,प्राकृत भाषा के कवि द्वारा समाहित होती हुई तमिल , बांग्ला आदि भाषाओं के माध्यम से भारत के पूर्व, पश्चिम ,उत्तर और दक्षिण फैली हुयी है ! जिनमे विभिन्न प्रदेशों की विशिष्ट संस्कृतियों के दर्शनीय है !

Kamba Ramayana

What is Kamba Ramayana ?

Kamba Ramayana एक प्रकार का रामायण ही है ,लेकिन ये रामायण तमिल भाषा में लिखा गया है ! ऐसे तो रामायण को कई भाषा लिखा गया है लेकिन मै आपको Kamba Ramayana का कुछ पार्ट बताने का कोशिश करता हूँ जो की तमिल भाषा में लिखा गया है !

Kamba Ramayana का भी आधार वाल्मीकि द्वारा लिखा गया रामायण ही है लेकिन इसमें कुछ अलग तरीके से बताया गया है !

बर एवं कन्या मिलने का परम्परा

कामवन ने वाल्मीकि के रामायण को आधार बनाते हुए इराव्तारम की रचना की तथा उन्होंने बाल्मीकि से अलग मौलिक अवधारणा भी किये ! तमिल परम्परा के अनुसार पूर्व राग के उपरान्त ही विवाहित जीवन के प्रसंग होता है ! इससे पहले नहीं यानि की तमिल परम्परा के अनुसार विवाह के पूर्व बर एवं कन्या का मिलन जरुरी है !

उन्होंने श्रीराम लक्ष्मण और विश्वामित्र के मिथिला प्रवेश के पूर्व ही रास्ते में ही सीता का मिलन दिखा दिया !

Kamba Ramayana

सीता हरण

कम्वन के अनुसार सीता हरण के दौरान रावन ने सीता को हरण करते समय पुरे कुटिया को ही चुरा लेता है और उसे लंका में लाकर स्थापित कर देता है ! क्योकि रावन बहुत ही वल्शाली था और उसे श्राप मिला था की तुन्हें अपने पत्नी के अलावा छूना तक नहीं है !

रावन ने अपनी वहण की बात रखने के लिए चला तो आया लेकिन चुराने की बात आई तो उन्हें श्राप याद आ गया !

यही बात को अलग अलग रामायण में अलग अलग दिखाया गया है ,जैसे की बाल्मीकि के रामायण में सीता को जबरदस्ती उठा कर ले जाने को दिखया गया है !

लेकिन Kamba Ramayana में उसे श्राप की वजह से छूना तक नहीं था , इस वजह से पूरा कुटिया ही उठा कर ले गया !

फिर भी बाल्मीकि के तुलना में भारत में मात्र दो रामाख्यानो को सबसे ज्यादा मान्यता मिला है ! अवधि भाषा में रचित तुलसी दास के मानस को उतर में एवं कनक को इर्वाव्तार्म को दक्षिण में सवसे ज्यादा प्यार मिला है !

Kamba Ramayana के रच्यता काम्बा अपने समय के सर्वश्रेष्ठ विद्यान माने जाते हैं ! 9वी शताव्दी में कबन ने 10500 पद्यो के माध्यम से इराव्तारम के रचना की तथा तुलसी दास की भान्ति राम को परमेश्वर बताया !

Download Kamba Ramayana

डिस्क्लेमर :- Viral Seva किसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !

Download Kamba RamayanaBuy on Amazon

Leave a Comment